आधार फॉर्म भरते समय ये गलतियाँ न करें |

जब भी कोई व्यक्ति अपना नया आधार कार्ड बनवाने या इसमें परिवर्तन करवाने के लिए आधार केंद्र पर जाता है | उसे आधार फॉर्म भरने के लिए कहा जाता है | इस फॉर्म में कुछ ऐसे बिन्दु होते है जिन्हें हम समझ नहीं पाते | इसलिए हम आपकी सुविधा के लिए अपने इस आर्टिकल्स में आधार फॉर्म के हर बिंदुओं को बहुत आसान शब्दों में समझायेंगे |

आधार फॉर्म में दिए गए बिंदु को इस प्रकार भरें | 

संदेश 

फॉर्म में सबसे ऊपर एक सन्देश लिखा होता है जिसमें आपको बताया जाता है कि बायोमैट्रिक आधार कार्ड बनवाने के लिए आपसे किसी तरह का शुल्क नहीं लिया जायेगा | आधार फॉर्म को अंग्रेजी के कैपिटल लेटर में भरें | 

नागरिकता 

फॉर्म में सबसे पहले आवेदक की नागरिकता पूछी जाती है, जिसमें 2 ऑप्शन Resident और Non-Resident Indian(NRI ) दिए होते है | आवेदक इसमें अपनी नागरिकता के सामने वाले ऑप्शन पर टिक करें | 

1 ) Pri Enrolment ID

आधार फॉर्म का यह कॉलम आवेदक द्वारा तभी भरा जाये जब उसे अपना आधार कार्ड अपडेट करवाना हो | 

2 ) आधार नंबर 

यदि आवेदक अपना आधार कार्ड बनवा लिया है तो अपना आधार नंबर इस ऑप्शन में दर्ज करे | 

2.1 ) अपडेट 

यदि आवेदक आधार में अपडेट चाहते है तो आधार फॉर्म में दिए गए ऑप्शन के सामने टिक करें | ऑप्शन में बायोमेट्रिक अपडेट (फोटो, फिंगरप्रिंट, आयरिस), मोबाइल नंबर, जन्मतिथि, पता, नाम, लिंग, ईमेल दिए गए है | 

3 ) पूरा नाम 

 इस कॉलम में आवेदक को अपना पूरा नाम लिखना होता है 

4 ) लिंग

इसमें पुरुष / महिला / ट्रांसजेंडर तीन ऑप्शन दिए होते है | 

5 ) उम्र अथवा जन्मतिथि 

इसमें आवेदक अपनी उम्र अथवा जन्मतिथि को अंकित करें |

6 ) पता – 

  • इसमें अपना पूरा पता लिखें | पते में सबसे पहले आवेदक अपने घर का नंबर, (नगर निगम /पालिका/पंचायत द्वारा दिया गया) अंकित करे |
  • दूसरी पंक्ति में लैंडमार्क लिखे | (घर के नजदीक प्रसिद्ध स्थान, बिल्डिंग, या व्यक्ति का नाम )
  • आधार फॉर्म की बिंदु 6 की तीसरी पंक्ति में मोहल्ले, गांव, शहर का नाम लिखे |  
  • चौथी पंक्ति में आवेदक अपने जिले का नाम लिखे | इसी के आगे अपने प्रदेश का नाम भी लिखे | 
  • आखिरी पंक्ति में अपनी ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर और अपने शहर के पिन कोड को दर्ज करे | 

7 )वेरिफिकेशन प्रकार –

इस ऑप्शन में आपके परिवार में पिता, माता, संरक्षक, पति, पत्नी में से किसी 1 के ऑप्शन पर टिक लगा कर उसका नाम और आधार संख्या लिखनी होगी | साथ ही आपको वेरिफिकेशन का प्रकार की जानकारी देनी होगी | जिसमें आपको Document Based, Introducer Based, Head of Faimly में किसी एक ऑप्शन को सेलेक्ट करना होता है | 

8 ) डॉक्यूमेंट –

आधार फॉर्म में यदि आपने Document Based ऑप्शन को सेलेक्ट किया है | तो आपको POI ( Proof of Identification ) और POA ( proof of address) में दिए जाने वाले दस्तवेजों की जानकारी देनी होगी | 

POI ( Proof of Identification ) में कौन-कौन से Documents Proof के तौर पर दिए जा सकते है ?
  • पासपोर्ट 
  • पैनकार्ड 
  • राशनकार्ड 
  • मतदाता पहचान पत्र 
  • आवेदक का ड्राइविंग लाइसेंस 
  • मनरेगा कार्ड 
  • शैक्षिक पहचान पत्र 
  • हथियार का लाइसेंस 
  • बैंक पास बुक (जिस पर आवेदक का नाम और फोटो हो )
  • विवाह प्रमाण पत्र 
  • आय, जाति, निवास प्रमाण जिसमे आवेदक की फोटो हो | 
  • किसी राजपत्रित अधिकारी या तहसीलदार द्वारा उनके लेटरपेड पर आवेदक की पहचान का सत्यापन भी आधार फॉर्म में पहचान के रूप में लगाया जा सकता है
  • MP/MLA/MLC/ निगम पार्षद/ ग्राम पंचायत मुखिया या इसके समकक्ष अधिकारी द्वारा जारी किया गया पहचान पत्र(आवेदक की फोटो के साथ)
  • स्कूल की टी सी (जिस पर आवेदक का नाम और फोटो हो )
POA ( Proof of Adress) में कौन-कौन से Documents Proof के तौर पर दिए जा सकते है ?
  • पासपोर्ट 
  • बैंक पासबुक 
  • राशन कार्ड 
  • मतदाता पहचान पत्र 
  • आवेदक का ड्राइविंग लायसेंस 
  • पिछले 3 महीने का बिजली बिल 
  • वाटर टैक्स 3 महीने पुराना न हो
  • होम टैक्स की रशीद (3 महीने से अधिक पुराना न हो ) 
  • बिमा पालिसी
  • मनरेगा रोजगार कार्ड को भी पहचान पत्र के रूप में आधार फॉर्म पर लगाया जा सकता है | 
  • MP/MLA/MLC/ निगम पार्षद/ ग्राम पंचायत मुखिया या इसके समकक्ष अधिकारी द्वारा जारी किया गया पता प्रमाण पत्र   
  • तहसील दवारा जारी किया गया निवास प्रमाण पत्र 
  • स्कूल की टी सी (जिस पर आवेदक का नाम और पता हो )   
  • सरकार द्वारा जारी किया गया विवाह प्रमाण पत्र (जिस पर आवेदक का पता लिखा हो )

9 ) अगर आपने फॉर्म में Introducer Based ऑप्शन सेलेक्ट किया है | तो Introducer का आधार नंबर लिखे | और अगर आपने Head of Faimly को सेलेक्ट किया है | तो अपने परिवार के मुखिया का आधार नंबर लिखे | 

आधार फॉर्म के पेज 1 में आखिरी में एक शपथ लिखा होता है, जिसमें लिखा होता है कि आपके द्वारा दी गयी पहचान और पते की जानकारी सही है | इस शपथ पर आवेदक या उसके परिवार के मुखिया को अपने दस्तख़त करने होंगे |

पेज के अंत में एक कानूनी चेतावनी दी होती है जो इस प्रकार होती है | 

आधार (वित्तीय और अन्य सब्सिडी, लाभ और सेवाओं का लक्षित वितरण) अधिनियम, 2016 की धारा 3(2) के तहत प्रकटीकरण मैं पुष्टि करता हूं कि मैं पिछले 12 महीनों में कम से कम 182 दिनों से भारत में रह रहा हूं / मैं अनिवासी भारतीय (एनआरआई) हूं और जानकारी (बायोमेट्रिक्स सहित) यूआईडीएआई को मेरे द्वारा प्रदान किया गया मेरा अपना है और सत्य, सही और सटीक है।

मुझे पता है कि आधार बनाने के लिए आधार फॉर्म में  बायोमेट्रिक्स सहित मेरी जानकारी का उपयोग और प्रमाणीकरण किया जाएगा | मैं समझता/समझती हूं कि मेरी पहचान की जानकारी (कोर बायोमेट्रिक को छोड़कर) किसी एजेंसी को केवल प्रमाणीकरण के दौरान मेरी सहमति से या इस प्रकार प्रदान की जा सकती है

आधार अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार। मुझे यूआईडीएआई द्वारा निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए अपनी पहचान की जानकारी (कोर बायोमेट्रिक्स को छोड़कर) तक पहुंचने का अधिकार है।

इस आर्टिकल में फॉर्म के हर बिन्दुओं को बहुत विस्तार से बताया गया है | हम उम्मीद करते है आपको आधार फॉर्म से सम्बंधित सभी प्रश्नों का हल मिल गया होगा | यदि आपके किसी भी प्रश्न का हल हमारे इस आर्टिकल में नहीं मिला है तो आप अपने प्रश्न को कमेंट बॉक्स मे पूछ सकते है |

अधिक जानकारी के लिए आप आंध्रार कार्ड की वेबसाइट http://uidai.gov.in  पर जाकर विजिट कर सकते है | हमारा यह आर्टिकल आपको कैसा लगा अपने विचार और सुझाव कमेंट बॉक्स में जरूर दें | धन्यवाद | 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.