Dyspepsia(अपच) क्या है ? इसके लक्षण और उपचार ?

इस दौड़ भाग की जिंदगी में लोग इतना व्यस्त हो चुके है | कि वे अपनी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं को नज़र अंदाज़ कर देते है | और यही आदत उन्हें गंभीर बीमारी का शिकार बना देती है | दुनिया में आधी से ज्यादा आबादी पाचन सम्बंधित समस्याओं से जूझ रही है |

इन्हीं पाचन सम्बन्धी समस्याओं में एक बीमारी Dyspepsia(अपच) है | इस आर्टिकल में आप इस बीमारी से जुडी खास जानकारियाँ प्राप्त करेंगे | कृपया इसे जानने के लिए आर्टिकल को शुरू से अंत तक जरूर पढ़े |

Dyspepsia(अपच) क्या है ?

यह पेट में होने वाला एक आम रोग है | जिसमें व्यक्ति पाचन सम्बन्धी समस्याओं से परेशान रहता है | इस रोग को अपच, अजीर्ण या बदहजमी के नाम से जाना जाता है | इस बीमारी में व्यक्ति को पेट संबधी समस्याएँ रहती  है जैसे – पेट में हल्का दर्द, भारीपन, सूजन, गैस आदि | 

Dyspepsia(अपच) क्यों होता है ?

अनियमित भोजन और असंतुलित आहार लेने के कारण यह बीमारी लोगों को प्रभावित करती है | इस बीमारी से लोग लम्बे समय तक बीमार रहते है | अपच होने के अन्य कारण निम्नलिखित है |

  • एक समय में भोजन की अधिक मात्रा लेने से अपच की समस्या हो सकती है | 
  • भोजन को अच्छी तरह चबाकर न खाने से Dyspepsia(अपच) की शिकायत बनी रहती है |  
  • भोजन में तेल और वसायुक्त पदार्थो के अधिक सेवन से इस रोग के लक्षण दिख सकते है |  
  • चाय, काफी, कोकीन जैसी चीजों के अधिक सेवन से यह रोग हो सकता है |  
  • पित्ताशय की पथरी के कारण यह रोग उत्पन्न हो सकता है | | 
  • अधिक घबराहट होने से भी अपच की समस्या हो सकती है |
  • इस रोग के होने का मुख्य कारण मोटापा भी है  |  

अपच के लक्षण 

  • पेट भरा महसूस करना – कभी – कभी व्यक्ति को खाली पेट या भोजन करने के बाद पेट में भारीपन महसूस होता है | यह अपच का होने का संकेत है |  
  • भूख न लगना – Dyspepsia(अपच) से व्यक्ति को भूख नहीं लगती है | और उसके खाना खाने की इच्छाशक्ति कम हो जाती है | 
  • सीने में जलन महसूस करना – इस रोग से व्यक्ति को सीने में हल्की-हल्की जलन महसूस होती है |   
  • जी मचलाना- इस रोग के कारण कभी – कभी व्यक्ति का जी मचलाने लगता है | 
  • नींद कम आना- नींद का न आना भी अपच का संकेत है | 
  • दस्त होना-  अक्सर अपच से व्यक्तियों को दस्त की शिकायत बनी रह्ती है |  
  • पेट फूल जाना- इस बीमारी में पेट फूलना एक आम संकेत है | 
  • पेट में गैस बनना- अपच में गैस की समस्या अक्सर देखी जाती है | 
  • पेट में दर्द रहना – Dyspepsia(अपच) से पेट में हल्का दर्द बना रहता है | | 
  • उल्टी जैसा महसूस करना – इस बीमारी में व्यक्ति बार- बार उल्टी जैसा मसहूस करता है | 
  • रोगी को पसीना अधिक आना- अधिक पसीना आना भी अपच होने का संकेत है | 
  • सांस से दुर्गन्ध आना – पेट सम्बन्धी समस्या होने से सांसों से दुर्गन्ध आने लगती है | 

अपच से कैसे बचे ? 

अपच से बचने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखे | 

  • तरल पदार्थ अधिक ले – आप अधिक मात्रा में तरल पदार्थ जैसे- जूस, सूप, पानी, नारियल पानी आदि का सेवन करें | 
  • हल्का भोजन करे – सादे भोजन का सेवन करें | आप ऐसा करके खुद को  Dyspepsia(अपच) होने से बचा सकते है | भोजन में आप हरी सब्जियां, दाल का पानी, उबली सब्जियां, उबला चावल, दही आदि का प्रयोग कर सकते है | 
  •  
  • वसायुक्त और मसालेदार भोजन से दूर रहे – भोजन में यदि आप वसा और मसालें का प्रयोग अधिक करते है | तो इसे कम करे या बिलकुल भी न खाये | ऐसे भोजन अपच की समस्या को बढ़ाते है | 
  • भोजन कम खाये- भोजन कम खाये इससे भोजन जल्दी पचेगा और आपको पेट सम्बन्धी कोई भी समस्या नहीं होगी | 
  • भोजन अच्छी तरह चबा कर खाये-  खाना खाते समय भोजन को अच्छी तरह चबा कर खाये | इससे आप Dyspepsia(अपच) जैसी समस्या से बच सकते है | 
  • फ़ास्टफ़ूड का प्रयोग कम करे- बाहर के फ़ास्ट फ़ूड आइटम जैसे- बरगर, चाउमीन, पिज्जा, समोसा, आदि न खाये | ये सभी हमारे पाचन तंत्र को कमजोर करते है | 
  • व्यायाम करें- अपने पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम जरूर करें |

Dyspepsia(अपच) से बचने के लिए इनका सेवन करे-

अपच एक ऐसी समस्या है जो हर व्यक्ति को किसी न किसी समय हो सकती है | आप दफ्तर में हो या घर में | अपच के कारण आपका मन अन्य किसी कार्य में नहीं लगेगा | इसलिए इस समस्या से निपटने के लिए आपको  कुछ घरेलू नुस्खों की जानकारी होनी चाहिए |    

  • नींबू पानी – Dyspepsia(अपच) के दर्द से निजात पाने के लिए 1 गिलास पानी में 1 निम्बू निचोड़े आप चाहे तो आधी चम्मच चीनी भी मिला सकते है |
  • लौंग- लौंग में कई अमीनो एसिड होते है | जो हमारे पाचन शक्ति के लिए फायदेमंद है | आप लौंग का सेवन चाय, सब्जी, पोलाव आदि में कर सकते है | 
  • सेब का सिरका – एक कप पानी में एक चम्मच सिरका और एक चम्मच शहद अच्छी तरह मिला ले | इस मिश्रण को दिन में दो से तीन बार पिएं | यह आपके पेट सम्बन्धी समस्याओं को दूर करेगा | 
  • सौफ- सौफ को भून ले फिर उसे पीसकर छान ले | अब आधा चम्मच पाउडर को 1 कप पानी में मिलाकर दिन में दो बार पिएं |  
  • अदरक- Dyspepsia(अपच) के लिए अदरक काफी फायदेमंद होती है | आप 2 चम्मच अदरक का जूस, एक चम्मच नींबू का रस और 1 चुटकी काला नमक मिला ले | इस मिश्रण को आप पानी से या बिना पानी के भी खा सकते है | अदरक को आप चाय या गर्म पानी में डाल कर भी पी सकते है |  
  • तुलसी-  तुलसी की कुछ पत्तियों को गर्म पानी में खौला ले | इस पानी को आप दिन में 2 – 3 बार पीये | आपको काफी फायदा नजर आएगा | 
  • अजवाइन- अजवाइन उदर (पेट)रोगों के लिए काफी फायेमंद होती है | आप प्रतिदिन अजवाइन का  सेवन करके  Dyspepsia(अपच) जैसे रोगों से बच सकते है | 

1 गिलास पानी में आधा चम्मच अजवाइन, आधा चम्मच जीरा, एक चुटकी हींग को खौला ले जब पानी आधा बचे तो उसे गुनगुना होने तक छोड़ दे | जब पानी गुनगुना हो जाये तो उसमें एक चुटकी काला नमक मिला ले | ऐसे ही दिन में दो से तीन बार मिश्रण बना कर पिएं आपको काफी आराम मिलेगा | 

Dyspepsia(अपच) से बचने के लिए कुछ दवाएं 

  • एंटासिड- ये दवायें अपच पर काफी असरदार होती है | ये कुछ ही समय में आपको इस समस्या से आराम दिलाती है | 
  • अल्गीनेट्स- इन दवाओं का प्रयोग भी पेट में होने वाली Dyspepsia के लिए किया जाता है | अल्गीनेट्स एक झाग वाला बैरियर बनाता है जो आपके पेट की सामग्री की सतह पर तैरता है, यह एसिड को आपके पेट में बनाए रखता है और भोजननली से दूर रखता है। इसे आपको अपच से जल्द ही राहत मिलती है |

( इन दवाओं का प्रयोग आप अपने डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही खाएं ) 

अपच के लिए कुछ आयुर्वैदिक उपचार 

  • त्रिफला चूर्ण –  रात में खाना खाने के बाद इस चूर्ण का सेवन करने से अपच जैसी समस्या से आराम मिलता है | 
  • हींग काली मिर्च अजवाइन का चूर्ण – इसके चूर्ण को गुनगुने पानी से दिन में 2 बार लेने से Dyspepsia(अपच) की समस्या नहीं रहती है | 
  • जीरा धनिया सोंठ का  चूर्ण –  इस चूर्ण को खाना खाने के बाद गुनगुने पानी से दिन में 2 बार जरूर ले | | 
  • मुलेठी का चूर्ण – इस चूर्ण का प्रयोग पेट में दर्द होने पर गुनगुने पानी के साथ ले |  
  • भुनी सौफ का चूर्ण – चूर्ण सुबह खाली पेट और रात में सोते समय गुनगुने पानी से ले | 

Dyspepsia(अपच) से छूटकारा पाने के लिए योग 

अपने जीवन में योग और प्राणायाम के लिए अवश्य समय दे |  यह आपके शरीर को निरोग बनाने में मदद करता है | अपच से छूटकारा पाने के लिए आप वज्रासन, पश्चिमोत्तानासन, बालासन, पवनमुक्तासन, अर्धमत्स्येन्द्रासन, कृपालभाती योग कर सकते है  |

हम उम्मीद करते है आपको Dyspepsia(अपच) से सम्बंधित सभी प्रश्नों का हल हमारे इस आर्टिकल में मिल गया होगा | अगर आपके मन में इस विषय से जुड़ा कोई भी प्रश्न है तो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते है | इस विषय अपने विचार और सुझाव जरूर दे | धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published.