आज कितनी तारीख है ?

आज कितनी तारीख है |

आज कितनी तारीख है | अब यह सुन कर हर व्यक्ति के मन में यही विचार आ रहे होंगे | कि शायद आज कुछ खास हो या किसी का जन्मदिन |

हो सकता है किसी ख़ास की शादी का निमंत्रण हो या ऑफिस की इम्पोर्टेन्ट मीटिंग | ये सब मन में विचार आना स्वाभाविक है लेकिन एक पल के लिए कल्पना करिये कि किन्हीं कारणों से आपके मोबाइल की तारीख गलत सेट हुई हो और अचानक से आपको आज की तारीख जानना हो तो ऐसे में आप क्या कर सकते है |

जी हां आप सही सोच रहे है, आप अपने मोबाइल में गूगल पर सर्च करेंगे | तो आपको पता चल जायेगा | कि आज कितनी तारीख है |आज से लगभग 15 -20 साल पहले सभी के हाथों में घड़ी और घरों की दीवारों पर कैलेंडर देखने को मिल जाता था |

पर आजकल के समय में लोग तारीख देखने के लिए मोबाइल का ही प्रयोग करते है | क्या आप जानते है कि हमारे पूर्वज बिना घड़ी के दिन और समय के बारे में कैसे पता करते होंगे |

तो आइये जानते है कि पुराने समय में दिन और समय का पता कैसे किया जाता था |

तारीख मापने का इतिहास

अति प्राचीन काल में मनुष्य सूर्य की मदद से यह पता करता था | कि आज कितनी तारीख है |

सूर्य की विभिन्न अवस्थाओं के आधार पर प्रातः , दोपहर, संध्या और रात्रि की कल्पना की जाती थी |

इसके बाद उन्होंने सूर्य की कक्षा गतियों से पक्षों, महीनों, ऋतुओं के बारें में जाना |

समय को मापने के लिए लोग पानी और बालू का प्रयोग करते थे |

वे किसी पात्र में छोटा सा छेद करके उसे दूसरे पात्र में खाली करते थे |

पूरा पात्र खाली होने में जो भी समय लगता था उसको एक पल मान लिया जाता था |

किन्तु ये सभी यन्त्र सूक्ष्म न थे | और इनमें व्यावहारिक कठनाईया भी अधिक थी |

इसलिये यह तय कर पाना कि आज कितनी तारीख है | ये पुराने समय में अत्यंत कठिन था |

समय बीतता गया और विज्ञान के प्रभाव से लोगों ने लोलक घड़ियों का अविष्कार किया |

इस घडी के अविष्कार से समय जानने में काफी मदद मिली | लोगों ने समय की महत्वता को समझा और समय जानने के लिए नए-नए अविष्कार किये |

तारीखों का महत्व

हर व्यक्तियों के जीवन में तारीखों का महत्व बहुत ही मायने रखता है |

कुछ तारीखे जीवन के अच्छे पलों के रूप में याद रहती है तो कुछ खराब | व्यक्ति अच्छे पलों को हमेशा याद रखता है

पर व्यक्ति के जीवन में कोई भी दुखद घटना घटने पर सबसे पहले एक ही बात निकलती है ‘’ आज कितनी तारीख है | याद कर लो |

इतिहास में तारीखों की महत्वता

इतिहास में हर घटनाओं को तारीखों के माध्यम से ही याद किया जाता है |

कब कौन सा युद्ध हुआ या किस राजा की कब ताजपोशी की गयी इत्यादि |

आपने बहुतो को कहने सुना होगा की इतिहास में पढ़ने के लिए रखा ही क्या है बस तारीखों को याद करते चले आओ इतिहास समझ आ जाएगी |

तारीखों का महत्व सिर्फ इतिहास तक ही सीमित नहीं रहा बल्कि वर्तमान समय और आने वाले भविष्य में भी इसकी महत्वता दिखेगी |

आज कितनी तारीख है |

वर्तमान में तारीख जानने के तरीके

वर्तमान में तारीख जानने के कई तरीके है

जिससे आप जान सकते है कि आज कितनी तारीख है |

तो आइये जानने का प्रयास करते हैक्या है वो तरीके |

1 ) गूगल सर्च

जैसा की आप जानते होंगे कि गूगल दुनिया में सबसे बड़ा सर्च इंजन है |

हर व्यक्ति अपनी सभी समस्याओं का हल गूगल पर सर्च करके सहायता लेता है |

क्योकि सभी समस्याओं का हल गूगल कुछ ही सेकंडो में व्यक्ति को उपलब्ध करा देता है |

यह एक बेहद और सटीक जानकारी प्राप्त करने का तरीका है |

अगर आप आज की तारीख के बारे में पता करना चाहते है तो आप गूगल पर सर्च करके पता कर सकते है |

और आपको कुछ ही सेकंडो में यह पता चल जायेगा कि आज कितनी तारीख है |

2 ) गूगल असिस्टेंट –

यदि आप गूगल असिस्टैंट से आज की तारीख के विषय में पूछते है | तो वह आपको आज की तारीख के बारे में बताएगी |

सिर्फ आज ही नहीं आप कोई भी तारीख के बारे में पूछँगे वो तारीख के साथ साथ आपको पूरी जानकारी देगी |

जैसे उस दिन का मौसम, किस तारीख में कौन सा त्योहार, कब किसका जन्मदिन इत्यादि |

गूगल सर्च की तरह यह बेहद आसान तरीका है तारीख जानने का |

3 ) गूगल कैलेंडर –

यदि आपके पास एंड्राइड स्मार्ट फ़ोन है तो आप गूगल कैलेंडर की मदद से बेहद आसान तरीके से यह पता कर सकते है कि आज कितनी तारीख है |

4 ) तारीखों से जुड़ी और रोचक जानकारियां

हम आपको इतिहास की उन तारीखों या वर्षो से रूबरू कराएँगे जो आपको हमेशा याद रखनी चाहिए |

(ईसा – पूर्व )

3000-1500 सिंधु घाटी की सभ्यता

576 गौतम बुद्ध का जन्म

527 महावीर का जन्म

327-326 भारत पर एलेक्जेंडर का हमला

273 -232 सम्राट अशोक का शासन

58 विक्रम सम्वत का प्रारंभ

(ईसवी )

78 शक संवत का प्रारम्भ

320 गुप्त युग का प्रारम्भ

405 – 411 चीनी यात्री फाह्यान की भारत यात्रा

606 -647 हर्षवर्धन का शासन

1001 गजनवी का भारत पर प्रथम आक्रमण

1191 तराई का प्रथम युद्ध

1192 तराई का द्रितीय युद्ध

1210 कुतुब्दीन की मौत

1469 गुरुनानक जी का जन्म

1526 पानीपत की प्रथम लड़ाई

1530 बाबर की मृत्यु

1556 पानीपत की द्रितीय लड़ाई

1600 ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना

1628 शाहजहां भारत के सम्राट बने

1666 शिवजी की मृत्यु

1764 बक्सर की लड़ाई

1889 नेहरू जी का जन्म

1914 प्रथम विश्व युद्ध प्रारम्भ

1947 भारत का विभाजन

आपने ऊपर दी गयी सभी जानकारियों में आज कितनी तारीख है |

जानने का तारीका पता किया और आपको इसके साथ-साथ तारीख से सम्बंदित और कई जानकारियों को पढ़ने का मौका मिला |

लेकिन क्या आपको हिंदू तारीखों के बारे में जानकारी है हिन्दू तारीखे वो तारीखे होती है

जिसमें सूर्य की दशा, वार, नक्षत्र, काल, योग आदि के बारे में बताया गया होता है | हिन्दुओं में विवाह और शुभ कार्य इन्हीं के आधार पर किये जाते है |

हिन्दू धर्मो में शुभ तिथियों का बहुत ही अधिक महत्व होता है |

उम्मीद करते है कि अब शायद आपके मन में तारीख को लेकर किसी भी प्रकार की शंका न हो और जब भी आपको तारीख याद नहीं आएगी

तो आप अपने मोबाइल में गूगल करके आज कितनी तारीख है | पता कर लेंगे |

हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा | अपने सुझाव हमें कमेंट के माध्यम से भेज सकते है | धन्यवाद |

Leave a Reply