प्रमुख समाचार दिनांक 02.02.2024

lakshadweep को पर्यटन के लिए विकसित करने की तैयारी

lakshadweep beautiful beach with two boats

सरकार लक्षद्वीप (lakshadweep) को बड़े पैमाने पर पर्यटन के लिए विकसित करने की तैयारी में है।

इसके लिए लक्षद्वीप (lakshadweep) में पोत संपर्क, पर्यटन के बुनियादी ढांचे व सुविधाओं के लिए वित्त उपलब्ध कराया जाएगा।

वित्त मंत्री ने lakshadweep द्वीप समूह के लिए अंतरिम बजट में कई घोषणाएं की है।

वित्तीय वर्ष 2024-25 में lakshadweep पर्यटन क्षेत्र के लिए आवंटन बढ़ा कर 2449.62 करोड़ रुपए कर दिया है। जो चालू वित्त वर्ष के संशोधित आंकड़े से 44.7% अधिक है।

इजरायल के हमलों में 119 लोगों की मौत, 60 से ज्यादा घायल

ruin of a city after war

इजरायल के हमले हमास आतंकियों पर लगातार हो रहे हैं। बुधवार रात से गुरुवार सुबह तक इजरायली हमलों से 119 लोगों की मौत हो गई और 60 से ज्यादा लोग घायल हुए।

गाज़ा के दक्षिणी हिस्से खास यूनुस और राफा में सेना और आतंकियों के बीच तेज लड़ाई हो रही है। सेना ने खास यूनुस स्थित लम्बी दूरी के एक मिसाईल लॉन्चिंग केंद्र को नष्ट कर दिया है ।

सुप्रीम कोर्ट ने व्यास जी के तहखाने के फैसले को मंजूरी दी

Hindu priest doing puja in a temple

ज्ञान वापी परिसर स्थित व्यास जी के तहखाने में पूजा करने के निचली अदालत के फैसले पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने मना कर दिया। शीर्ष अदालत ने याचिकाकर्ताओं को इलाहाबाद हाईकोर्ट जाने को आदेश दिया।

ज्ञानवापी परिसर में मूर्तियों का पूजन शुरू

जिला जज वाराणसी के आदेश के 25 घंटे के अन्दर गुरुवार शाम 4 बजे से ज्ञान वापी के दक्षिणी तहखाना में रखी मूर्तियों का दर्शन पूजन शुरू हो गया है।

इससे पूर्व तहखाने में देवी देवताओं की मूर्तियों की आरती की गई। आम भक्तों को तहखाने के गेट से दर्शन की अनुमति भी दे दी गई जो रात्रि 10.30 बजे सांध्यकालीन आरती तक होगी।

रिसीवर की मौजूदगी में ज्ञानवापी परिसर की बैरीकेडिंग कटवा कर पूरे विधि विधान से पूजा शुरू करा दी गई। शाम 4 बजे की आरती के बाद मन्दिर व पुलिस प्रशासन ने विश्व नाथ मन्दिर परिसर के उत्तरी गेट से निकलने वाले भक्तों को दर्शन के लिए भेजना शुरू कर दिया।

क्या पेड़ों में काम हो रही है कार्बन डाइऑक्साइड के अवशोषण की क्षमता ?

वातावरण में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर पेड़ जलवायू परिवर्तन का मुकाबला करने में मदद कर रहे थे। लेकिन अब ऐसा नहीं है।

पेड़ों में सांस लेने और जलवायू परिवर्तन का मुकाबला करने की क्षमता कम हो गई है।

गर्म और सूखे जलवायू के कारण कार्बन डाइऑक्साइड के अवशोषण की प्रक्रिया में पेड़ पौधे असफल हो रहे हैं।

उच्च तापमान और सीमित पानी की सप्लाई से यह प्रक्रिया विपरीत दिशा में चल रही है। जिससे पेड़ कार्बन डाइऑक्साइड को वापस वायुमंडल में छोड़ देते हैं। इस प्रक्रिया को फोटो रेस्पिरेशन नाम दिया गया है।

Leave a Reply