प्रमुख समाचार: दिनांक 01.02.2024

ज्ञानवापी परिसर में मिला पूजा का आदेश दिया

ज्ञानवापी

ज्ञानवापी परिसर में जिला जज ने परिसर स्थित व्यास जी के तहखाना ( दक्षिणी तहखाना) में पूजन, राग भोग शुरू करने का आदेश दे दिया है।

कोर्ट ने तहखाने के रिसीवर के रुप में डी एम को आदेश दिया है कि 7 दिनो के अन्दर पूजा आदि के लिए अनुकूल व्यवस्था करें।

प्रतिवादी और वादी पक्ष की सुनवाई के बाद जिला जज ने 30 जनवरी को आदेश सुरक्षित रख लिया। ज्ञानवापी परिसर के वैज्ञानिक सर्वे के दौरान एएसआई ने तहखानों की दीवार और स्तम्भों से प्लास्टर खुरच कर अध्यन किया।

ज्ञानवापी में मिली शिव लिंग

प्लास्टर के नीचे नक्काशीदार पत्थर मिले जिनका पूरा विवरण रिपोर्ट में अलग अलग दिया गया है। तहखानों में लगे पिलर के बेस और ऊपरी हिस्से के अध्यन के दौरान वहां कई तरह के पुष्प, हिंदू प्रतीक चिन्ह उकेरे हुए मिले हैं।

दोनों छोर पर अधिक पंखुड़ियों वाले पुष्प बने हुए हैं। ऐसी आकृतियां अमूमन मंदिरों के निर्माण में उकेरी जाती हैं।

पुष्प आकृति के खंडित पत्थर, कुछ खंडित डिज़ाइन भी पाई गई हैं। ज्ञान वापी परिसर में लोहे की ग्रिल से घिरा दक्षिणी तहखाना पुराने नंदी के सामने वाला हिस्सा है। इसमें शिव लिंग, देव विग्रह व सिक्के मिले हैं।

इसी हिस्से में स्थित तहखाना में जिला जज की अदालत ने पूजा पाठ की इजाजत दी है।

उत्तर प्रदेश के 16 शहरों में 2218.74 करोड़ के परियोजनाओं का शुभारंभ

उत्तर प्रदेश का नक्शा जिलों के साथ

कानपुर झांसी समेत उत्तर प्रदेश के 16 शहरों में विकास की कई नई परियोजनाओं पर काम शुरू होगा।

इसमें रिवर फ्रंट , कंप्लीट स्ट्रीट, बड़े पार्क, वाटर बॉडीज तथा झीलों का विकास होगा।

इनके विकास पर 2218.74 करोड़ रुपए खर्च होंगे। राज्य सरकार ने इन परियोजनाओं के लिए केंद्र से बजट मांगा है।

केंद्र ने शीघ्र ही बजट जारी करने की सहमति दे दी है। इसके लिए जिन शहरों को चुना गया है वो हैं कानपुर, लखनऊ, गाजियाबाद,वाराणसी, प्रयागराज, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, बरेली, मुरादाबाद।

इसके अलावा अलीगढ़, झांसी, फिरुजाबाद, शिकोहाबाद, सहारनपुर, मुज़फ्फरनगर तथा मथुरा वृंदावन भी इस सूचि में शामिल है ।

ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने मछली की एक दुर्लभ प्रजाति के बारे में फैसला लिया

रेड हैंड फिश

समूद्र के बढ़ते तापमान से मछली की दुर्लभ प्रजाति रेड हैंड फिश को बचाने का फैसला ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों ने लिया है।

उन्होंने 25 हैंडफिश को अस्थाई एक्वेरियम में रखा है और लगातार निगरानी कर रहे हैं।

ये हैंडफिश 8 सेंटीमीटर लम्बी होती हैं और पानी में तैरने के बजाय समुद्री तल पर अपने पेक्टोरल और पेल्विक फिन की मदद से चलती हैं।

सामान्य तापमान हो जाने पर इन्हें वापिस प्राकृतिक आवास यानि समुद्र में छोड़ दिया जाएगा।

उपवास से अल्माइजर जैसी बीमारियों को रोकने के लिए नई रिसर्च

उपवास से शरीर के अन्दर की सूजन खत्म हो सकती है। किसी भी तरह के संक्रमण या जख्म होने पर शरीर में सूजन आना स्वाभाविक है। बिना किसी कारण शरीर में अधिक सूजन आना अल्जाइमर, पार्किनसन और टाइप 2 डायबिटीज जैसी बीमारी का खतरा हो सकता है।

मौसम विभाग: सर्दी और गर्मी में उतार-चढ़ाव, रिकॉर्ड तोड़ सर्दी का समय

सर्दी में आग तापते दो लोग

जनवरी माह के अंतिम दिन बुधवार को अधिकतम पारा 25.2 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। यह सामान्य से 4.8 डिग्री सेल्सियस अधिक था। पिछले 72 घंटे में दिन का पारा 20 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक बना हुआ है।

न्यूनतम तापमान में अधिक वृद्धि नहीं हुई है। हालांकि यह भी सामान्य से अधिक रहा। मौसम विभाग के अनुसार रात में सर्दी और दिन में गर्मी रहेगी। वर्ष 2003 के बाद इस साल 2024 में रिकॉर्ड तोड़ सर्दी 11 जनवरी से 16 दिनो तक रही। इसका कारण जलवायू परिवर्तन बताया गया है।

फिलहाल मौसम में उतार चढाव बना रहेगा।

Leave a Reply